पिता के नाम है खेत तो क्या बेटे को भी मिलेगी पीएम किसान योजना की राशि, जानें नियम

अगर कोई व्यक्ति जिसके नाम पर खुद का खेत नहीं है लेकिन वह अपने पिता के  नाम पर मौजूद खेत को जोतता है तो उसे पीएम किसान का लाभ नहीं मिलेगा.

उसे वह जमीन अपने नाम से कराने के बाद ही इसका लाभ मिलेगा.

परिवार का एक ही सदस्य केवल इस योजना का लाभ ले सकता है.

अगर कोई किसान किसी दूसरे किसान से जमीन लेकर किराए पर खेती करता है, तो भी उसे भी योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

पीएम किसान योजना के तहत खुद के नाम जमीन होना जरूरी है..सभी संस्थागत भूमि धारक भी इस योजना के दायरे में नहीं आएंगे.

अगर कोई किसान या परिवार में कोई संवैधानिक पद पर है तो उसे लाभ नहीं मिलेगा.

राज्य/केंद्र सरकार के साथ-साथ पीएसयू और सरकारी स्वायत्त निकायों के  सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी होने पर भी योजना के लाभ के  दायरे में नहीं आएंगे

डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, आर्किटेक्ट्स और वकील जैसे प्रोफेशनल्स को भी योजना का लाभ नहीं मिलेगा

10,000 रुपये से अधिक की मासिक पेंशन पाने वाले सेवानिवृत्त पेंशनभोगियों को इसका लाभ नहीं मिलेगा.

इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले पेशेवरों को भी योजना के दायरे से बाहर रखा गया.