उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के मौके पर "बाल श्रमिक विद्या योजना" की शुरुआत की है.

इस योजना के अंतर्गत कामकाजी बच्चों को स्कूल भेजने के लिए सरकार द्वारा 1200 रूपए प्रतिमाह प्रदान किये जाएंगे.

इसके अलावा कक्षा 8, 9 और 10 पास करने पर 6000-6000 रूपए की अलग से प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी.

दोस्तों, जिन परिवारों की आर्थिक स्थिति कमजोर होती है, वह अपने बच्चो को भी काम पर लगा देते है,

जिसके कारण उनके बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाते हैं. इन्ही सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत की गयी.

इस योजना के अंतर्गत बालको को 1000 रूपए एवं बालिकाओं को 1200 रूपए प्रतिमाह प्रदान किये जाते हैं.

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना के लिये आवेदन कैसे करे ?

Arrow