Most Profitable Cash Crops: उच्च लाभ प्राप्त करने के लिए किसान इन फसलों को उगा सकते हैं

Most Profitable Cash Crops: इस लेख का उद्देश्य छोटे कृषि व्यवसायियों और कृषि की दुनिया में नए लोगों के लिए नकदी फसलों (Cash Crops) की खेती के व्यापार विचारों की एक सूची देना है। वाणिज्यिक नकदी फसल (Commercial cash crop) खेती एक साल की लाभदायक खेती प्रक्रिया है।

तकनीकें एक किसान से दूसरे किसान तक और एक जगह से दूसरी जगह भिन्न हो सकती हैं, लेकिन मूल बिल्कुल एक ही है। भारत में, मौसम के वर्गीकरण के अनुसार, नकदी फसलों को रबी, खरीफ और, ज़ैद फसलों में विभाजित किया जाता है।

Most Profitable Cash Crops: उच्च लाभ प्राप्त करने के लिए किसान इन फसलों को उगा सकते हैं

रबी फसलें (Rabi Crops)– ये सर्दियों की बोई जाने वाली फ़सलें हैं, जिनमें गेहूँ, जौ, सरसों, मटर आदि शामिल हैं।

खरीफ फसलें (Kharif Crops) – ये मानसून में बोई जाने वाली फसलें हैं जिनमें चावल, ज्वार, बाजरा, सोयाबीन, गन्ना, दालें आदि शामिल हैं।

जायद की फसलें (Zaid Crops) – ये ग्रीष्म ऋतु में बोई जाने वाली फसलें हैं जिनमें कद्दू, करेला, तरबूज, ककड़ी, कस्तूरी आदि शामिल हैं।

भारत में सबसे अधिक लाभदायक नकदी फसलें (Top most profitable cash crops in India)

यहाँ भारत में कुछ सबसे अधिक लाभदायक फसलों की सूची प्रदान करने जा रहें है:-

गेहूँ (Wheat)

गेहूं भारत में सबसे अधिक लाभदायक नकदी फसलों (Cash Crops) में से एक है। यह रबी की फसल है, और उत्तरी और उत्तर-पश्चिमी भारत में सबसे महत्वपूर्ण भोजन है। गेहूं मुख्य रूप से बीज के लिए एक घास की खेती की जाने वाली फसल है। गेहूं की खेती अन्य अनाज फसलों की तुलना में वास्तव में आसान है। गेहूं को विभिन्न प्रकार की जलवायु परिस्थितियों में उगाया जा सकता है, क्योंकि इसमें उच्च अनुकूलन क्षमता है। गेहूँ उगाने के लिए 3 डिग्री सेल्सियस से 35 डिग्री सेल्सियस तापमान अनुकूल होता है, और बलुई दोमट मिट्टी अनुकूल होती है।

PM Awas Yojana List 2020: प्रधानमंत्री आवास योजना सूची में अपना नाम कैसे जांचें ? यहाँ जाने स्टेप बाय स्टेप

चावल (Rice)

भारत में चावल लगभग हर जगह और सबसे लोकप्रिय फसल है। चीन के बाद भारत चावल का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। यह खरीफ की फसल है। भारत के लगभग हर राज्य में चावल का सेवन किया जाता है, लेकिन ज्यादातर दक्षिणी राज्यों में। चावल को पर्यावरणीय स्थितियों की विस्तृत किस्मों के तहत उगाया जा सकता है। चावल की खेती के लिए उपयुक्त तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से 42 डिग्री सेल्सियस के बीच है। और, विभिन्न खेती विधियों के माध्यम से उगाया जा सकता है।

सरसों (Mustard)

सरसों शुष्क और ठंडी जलवायु परिस्थितियों में बढ़ती है। सरसों उगाने के लिए 10 डिग्री सेल्सियस से 25 डिग्री सेल्सियस उपयुक्त तापमान उपयुक्त रहता है है। सरसों विश्व का तीसरा सबसे महत्वपूर्ण तिलहन है।

मक्का (Maize)

मक्का भी भारत में सबसे महत्वपूर्ण फसलों में से एक है। यह मुख्य रूप से कर्नाटक, और आंध्र प्रदेश सहित भारत के दक्षिणी क्षेत्रों में उगाया जाता है। इसे 21- डिग्री सेल्सियस से 27 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान में उगाया जा सकता है।

बाजरा (Millets)

बाजरा में ज्वार, बाजरा, आदि जैसी फसलें शामिल हैं। ये ज्यादातर उच्च तापमान और शुष्क क्षेत्रों वाले क्षेत्रों में उगाई जाती हैं। ये एक दोमट मिट्टी में उगाए जाते हैं।

कपास (Cotton)

कपास को सबसे लाभदायक नकदी फसलों में से एक माना जाता है। कपास खरीफ की फसल है। यह एक फाइबर फसल है और कपास के बीज का उपयोग वनस्पति तेल बनाने के लिए किया जाता है। कपास की खेती के लिए 21 डिग्री सेल्सियस से 30 डिग्री सेल्सियस तक का तापमान उपयुक्त माना जाता है। कुछ अन्य लाभदायक नकदी फ़सलें चाय, अन्य जड़ी-बूटियाँ, बाँस, कैक्टस, मसाले, औषधीय पौधे, गन्ना, आदि हैं।

किसान भाइयों इस लेख में हमने नकदी फसलों (Cash Crops) के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी साझा की है. इसी प्रकार की और जानकारी एवं सरकारी योजनाओं के बारे में जानने के लिए हमारी वेबसाइट को बुकमार्क करना न भूलना।

PM Kisan Yojana Latest Update: पीएम किसान योजना की सातवीं क़िस्त का इंतज़ार कर रहे किसानों के लिए महत्वपूर्ण अपडेट, यहाँ जाने

Chief Minister Horticulture Mission: बागवानी के लिए सरकार दे रही है 50 से 90 प्रतिशत सब्सिडी, लाभ लेने के लिए ऐसे करें आवेदन

Solar Pump Yojana Latest Update: सरकार किसानों को दे रही है सबसे सस्ता ऋण, ऐसे करें आवेदन

About the author

SinghParamjeet

Yes, I am the owner of IndiaGovtYojana website. Love to help everyone by sharing informative content such as Sarkari Yojana, Agriculture & Education News and Central & State Government Schemes.

Leave a Comment