Join Our Telegram Group Join Now
Join Our WhatsApp Group Join Now

Crop Insurance List 2023: मिलने लगे किसानो को फसल बीमा योजना के 15000 रुपये,जल्दी करे लिस्ट में अपना नाम चेक|

Crop Insurance List 2023: ई-पीक चेक के लिए पंजीकरण करने में कुछ किसानों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है, जिसके कारण कुछ लोग सरकारी कार्यक्रमों के लाभ से वंचित हो रहे हैं। अनेक किसानों ने अपनी कृषि उत्पादों को ई-फसल निरीक्षण के लिए पंजीकृत करवाया है, लेकिन उनमें से कुछको मोबाइल फोन तक पहुंचने में समस्या हो रही है।

Pradhan mantri Fasal Bima Yojana

वे किसान जो मोबाइल फोन से वंचित हैं, ने अन्य साधनों का सहारा लेकर ई-फसल निगरानी के लिए पंजीकरण करवाया है। हालांकि, कई किसान अब जानना चाहते हैं कि उनका ई-फसल जांच सफलतापूर्वक पूरा हुआ है या नहीं। इसलिए, इस मुद्दे में सचेत रहना आवश्यक है, ताकि उन्हें इस नए तकनीकी परिवर्तन के सही फायदे मिल सकें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत का कारण स्पष्ट किया है, जिसका मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदा से प्रभावित होने वाले किसानों को वित्तीय सहायता पहुंचाना है। इसका उद्देश्य है कि ऐसे किसानों को आर्थिक मदद मिले, जो अपनी फसलों के नुकसान से पीड़ित हों, ताकि वे नए और आधुनिक कृषि तकनीकों को अपना सकें और उनकी आय में स्थिरता बनी रहे।

इस योजना के अंतर्गत, सरकार द्वारा किसानों को फसलों के नुकसान पर विभिन्न राशियां प्रदान की जाती हैं, जो उन्हें आर्थिक संबंध में सहारा पहुंचाने के लिए होती हैं। देश के किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं और इसके अंतर्गत आवेदन करके अपनी फसलों को सुरक्षित रखने में सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

PMFBY योजना के मुख्य बिंदु

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के मुख्य पहलुओं में, रबी के लिए 1.5%, खरीफ के लिए 2%, और वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए 5% प्रीमियम शामिल है।

इस बीमा योजना के अंतर्गत किसानों से बहुत कम प्रीमियम लिया जाता है, जिसमें अधिकांश प्रीमियम सरकार द्वारा वहन किया जाता है। इससे सुनिश्चित होता है कि कोई भी किसान बीमित होने से महसूस न करे और आपदा में हुए नुकसान की भरपाई हो सके।

PMFBY में टेक्नोलॉजी का व्यापक प्रयोग किया गया है, जिससे क्लेम सेटलमेंट का समय कम हो जाता है और किसानों को तात्काल सहायता प्राप्त होती है। इस योजना का प्रबंधन एग्रीकल्चर इंडिया इन्शुरन्स कंपनी द्वारा किया जाता है, जिससे इसकी निगरानी और प्रबंधन में अद्वितीयता बनी रहती है।

2016-17 के बजट में, PMFBY के लिए 5550 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया था, जिससे यह योजना किसानों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए सक्षम होती है। इससे पहले, यह योजना राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एनएआईएस) और संशोधित राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एमएनएआईएस) की जगह आई थी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना हेतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

  • पहले, आपको Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • उसके बाद, आपके सामने वेबसाइट का होम पेज दिखाई देगा।
  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana होम पेज पर, आपको “Farmer Corner Apply for Crop Insurance yourself” ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद, आपके सामने Farmer Application पेज खुलेगा।
  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के इस पेज पर, आपको “Guest Farmer” ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद, रजिस्ट्रेशन फॉर्म आपके सामने आएगा।
  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में, आपको Farmer Details, Residential Details, Farmer ID, Account Details जैसी सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद, आपको नीचे दिया गया कैप्चा कोड भी दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद, आपको “Submit” के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार, आपका आवेदन करने का पूरा प्रक्रिया संपन्न हो जाएगा।

25 दिन के अंदर मिलेगा बीमा-

कृषि मंत्री धनंजय मुंडे ने 87 राजस्व मंडलों में सोयाबीन, मूंग, और उड़द उत्पादक किसानों के लिए 25% अग्रिम बीमा की सुविधा प्रदान की है। इस प्रमुख निर्णय से जुड़े अनुमानों के अनुसार, इसके प्रभाव से यह सिर्फ एक महीने के भीतर ही महसूस होगा। इस अग्रिम बीमा से जुड़े PM Fasal Bima List 2023 के तहत, नए तकनीकी प्रगति और समृद्धि के क्षेत्र में बदलाव देखने की आशा है।

मना जा रहा है कि यह निर्णय जिले के किसानों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है, जो इस मुश्किल घड़ी में उन्हें बड़ी राहत प्रदान करेगा। इस crop insurance list 2023 के माध्यम से, किसानों को नई ऊर्जा और प्रेरणा की भरमार होने की उम्मीद है, जो उन्हें अपने खेतों की सुरक्षा में और भी सकारात्मक बनाए रखने में मदद करेगा।

Leave a Comment