Bal Shramik Vidya Yojana: गरीब बालक बालिका को मिलेंगे हर महिने 1200 रुपये, ऐसे करे आवेदन

By | October 7, 2020

Bal Shramik Vidya Yojana: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के मौके पर “बाल श्रमिक विद्या योजना” की शुरुआत की है. इस योजना के अंतर्गत कामकाजी बच्चों को स्कूल भेजने के लिए सरकार द्वारा 1200 रूपए प्रतिमाह प्रदान किये जाएंगे. इसके अलावा कक्षा 8, 9 और 10 पास करने पर 6000-6000 रूपए की अलग से प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी.

Bal Shramik Vidya Yojana

दोस्तों, जिन परिवारों की आर्थिक स्थिति कमजोर होती है, वह अपने बच्चो को भी काम पर लगा देते है, जिसके कारण उनके बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाते हैं. इन्ही सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत की गयी.

यह भी देखें: Kanya Sumangala Yojana: लड़कियां को मिलेंगे पढ़ाई के लिए 15,000 रुपए, लाभ लेने के लिए ऐसे करें आवेदन

युपी बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत अनाथ तथा गरीब परिवार के बच्चों को स्कूल भेजने पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है. इस योजना के अंतर्गत बालको को 1000 रूपए एवं बालिकाओं को 1200 रूपए प्रतिमाह प्रदान किये जाते हैं. इस योजना के अंतर्गत पहले चरण में 2000 बच्चों का चयन किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य बाल मजदूरी को रोकना है. तथा बच्चो के सर्वांगीण विकास एवं एवं शिक्षा प्रदान करने के लिए आर्थिक सहायता देना है. इस योजना के अंतर्गत गरीब तथा आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के बच्चो को स्कूल भेजने पर सरकार बालक को 1000 रूपए एवं बालिका को 1200 रूपए प्रतिमाह आर्थिक सहायता प्रदान करती है.

बाल श्रमिक विद्या योजना के लाभ

  • इस योजना का लाभ गरीब बच्चो को दिया जाएगा.
  • इस योजना के तहत बालक को 1000 एवं बालिका को 1200 रूपए प्रतिमाह दिए जायेगे.
  • बाल श्रमिक विद्या योजना उत्तरप्रदेश के अंतर्गत बच्चे कक्षा 8, 9 व 10 पास करते हैं, तो उन्हें 6000-6000 रूपए की अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है.
  • उत्तर प्रदेश सरकार के मुताबिक लाभार्थियों का चयन श्रम विभाग की ओर से किया जाएगा।

देखना न भूलें: PM Mudra Loan Yojana: शुरू करना है खुद का बिज़नेस? सरकार दे रही बिना गारंटी 10 लाख का लोन

युपी बाल श्रमिक विद्या योजना के दस्तावेज़ (पात्रता)

पात्रता

  • आवेदक उत्तर प्रदेश राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • आवेदक की उम्र 8 से 18 वर्ष होनी चाहिए.

दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना के लिये आवेदन कैसे करे ?

इच्छुक उम्मीदवार जो मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 में आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा. अभी इस योजना में आवेदन सम्बन्धी कोई आधिकारिक दिशानिर्देश जारी नहीं किये गए है. जैसे ही यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना ऑनलाइन आवेदन / पंजीकरण फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू होती है हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जानकारी प्रदान कर देंगे. इसलिए हमारी वेबसाइट से जुड़े रहें। इसी प्रकार की और अन्य सरकार योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट को बुकमार्क करना न भूलें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *